•  

...तो इसलिए महिलाओं की छाती को टकटकी बांधकर देखते हैं पुरुष

क्या आपको पता है कि पुरुष महिलाओं की छाती की ओर अचानक क्‍यों आकर्षित होते हैं? आख‍िर क्यों उनकी इस निगाह को सिर्फ हवस से ही जोड़कर देख लिया जाता है?  ज़ाहिर सी बात है कि यह सवाल महिलाओं के जहन में भी हमेशा ही रहता होगा... लेकिन इसका जवाब खुद पुरुषों के पास नहीं। आइए पढ़ें इसी से जुड़ी चटपटी पर तथ्यपरक बातें- 

boobs of woman
 

पुरुष स्‍पष्‍ट रूप से कभी नहीं बता पाते हैं कि आखिर वे महिलाओं के वक्षों की ओर क्‍यों आकर्षित होते हैं। इस पर हुए अध्‍ययन में कई कारण सामने आये हैं-

  • आम तौर पर पुरुष जब महिलाओं से बात करना शुरू करते हैं, तो उनकी निगाहें सीधी आंखों से टकराने के बजाये पहले उनके वक्ष पर जाती है।
  • उसके बाद गर्दन की ओर देखते हैं और फिर आंखों से आंखें मिलती हैं व वे धीरे-धीरे करके अपने हॉर्मोंस के 'आदेशों' पर वक्षस्थल निहारने लगते हैं।
  • ऐसी बॉडी लैंगवेज को सामने वाली लड़की तुरंत समझ जाती है और उसे उस व्‍यक्ति की सोच के बारे में अंदाजा हो जाता है कि उसके अंदर 'हवस' जल रही है।
  • ऐसे में हर बार पुरुष की मानसिकता गलत नहीं होती है। कई अध्‍ययन के मुताबिक बात की शुरुआत करते वक्‍त सबसे पहले वक्ष की ओर देखते हैं।
  • असल में पुरुषों को लगता है कि वक्ष ही उनके नारित्‍व को ठोस बनाते हैं और सेक्‍सफील के माध्‍यम से कनेक्‍शन स्‍थापित करते हैं।
  • अगर वक्ष छोटे या अत्‍याधिक बड़े हैं तो पुरुष ज्‍यादा देर तक छाती की तरफ नहीं देखते व इससे भी महिला को कभी-कभार हीन भावना आकर घेर लेती है।
  • बात करते वक्‍त पुरुष की नज़र तभी वक्षों की ओर ज्‍यादा बार जाती है जब वक्ष सेक्‍सी और मध्‍यम साइज के हों।
  • यदि वस्‍त्रों के बाहर से हलकी झलक दिख रही है तब भी बात करते वक्‍त पुरुष की नजर महिला की छाती पर एक से अधिक बार आती है।
  • वक्षों के आकर्षक होने पर पुरुष ठीक तरह से संचार स्‍थापित नहीं कर पाते हैं व उनका दिल-ओ-दिमाग उन्‍हें जबरन छाती की ओर देखने के लिए कहता है।
  • इस वजह से कई बार न चाहते हुए भी पुरुष की नजरें उस पर पड़ती हैं। ऐसे में कई बार महिलाओं को गलतफहमी भी हो जाती है कि पुरुश कामुक है।
  • अध्‍ययन के मुताबिक यदि महिला दूर खड़ी है या पुरुष की ओर नहीं देख रही है। तब भी 95 प्रतिशत से ज्‍यादा पुरुषों की नजर उनकी छाती पर ही पड़ती है।
  • पास आने पर भले ही नजर हट जाये पर संभोग के दौरान भी वक्षों का काफी अहम रोल होता है। चरम सीमा तक पहुंचने में वक्ष काफी मददगार होते हैं।
  • असल में कई बार सेक्‍स की शुरुआत भी यहीं से होती है। अध्‍ययन के मुताबिक 69 प्रतिशत महिलाएं अपने वक्षों को उभरा हुआ बनाने की कोश‍िश में रहती हैं। 

English summary
Woman's breast is the best choice for a man during sex desire
Story first published: Tuesday, August 26, 2014, 11:57 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Get Notifications from Hindi Indiansutras

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Indiansutras sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Indiansutras website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more